मछली पालन के बारे में विस्तार से जानकारी दें |

  • 161 Views
  • Last Post 4 weeks ago
ritik posted this 4 weeks ago

यदि किसी किसान भाई को मछली पालन के बारे में विस्तार से पता है तो जानकारी साझा करने का कष्ट करें | 

sujeetpal posted this 4 weeks ago

मत्स्य पालन करने के साथ-साथ आपको कई बातों का ध्यान रखना होता है। तालाब या टंकी बनवाने से पहले जगह को अच्छी तरह से साफ कर ले वहां कंकर आदि नहीं होने चाहिए। तालाब को बरसात को ध्यान में रखते हुए बनवाना चाहिए। जिस स्थान पर अच्छी धूप हवा हो वहीं तालाब बनवाएं। तालाब बनवाने से पहले मिट्टी की जांच जरूर करवाले ताकि आपको तालाब बनवाने के बाद नुकसान नहीं भुगतना पड़े। मछलियों के पास कीडे आदि आने से रोके।

मछलियों को खाने वाले मांसाहारी जीवों से मछलियों की देखभाल करें अन्यथा आपके पास एक मछली भी नहीं बचेगी। पानी को हमेशा साफ सूथरा रखें ताकि उन्हें आॅक्सीजन बराबर मात्रा में मिल सके। आॅक्सीजन नहीं मिलने पर मछलियां मर सकती है। मछलियों को नियमित रूप से आहार उपलब्ध कराए। समय समय पर मछलियों की जांच करते रहे क्योंकि सर्दी के मौसम में मछलियों में बीमारियां फैल जाती है। कई बार पानी में विषैली गैस मिल जाती है जिससे तालाब की सारी मछलियां मर सकती है इसके लिए आपको सतर्क रहना पड़ेगा। मत्स्य पालन के लिए अच्छी नस्ल का ही चुनाव करें।

मत्स्य पालन के व्यवसाय को खेती के साथ-साथ अच्छी तरह से किया जा सकता है। मछलियों के रखरखाव में कभी भी लापरवाही न बरतें और रोजाना उनकी देखभाल करते रहे। यदि आपको मत्स्य पालन के लिए और जानकारी चाहिए तो आप अपने जिले के मत्स्य अधिकारी या मत्स्य पालन का व्यवसाय करने वाले लोगों से इसकी पूरी जनकारी ले सकते हैं।

मछलियों को शुद्ध बना हुआ आहार ही दें और मछलियों को आहार निश्चित मात्रा दें। मछली पकड़ने वालो से सावधान रहें क्योंकि कई बार मछली पकड़ने के इरादे से कई लोग आपके तालाब की मछलियों को नुकसान पहुंचा सकते हैं। आपको तालाब की सुरक्षा के पूरे इंतजाम करने होंगे। हमेशा ध्यान रखें कि पानी की मात्रा कम ज्यादा तो नहीं हो रही है। कम होनी की स्थिति में आपको पानी की व्यवस्था करनी होती है। इन सारी बातों को ध्यान में रखकर आप मत्स्य पालन के व्यवसाय की शुरूआत करें। तो दोस्तों आज हमने जाना कि किस तरह हम मत्स्य पालन के व्यवसाय को शुरू कर सकते हैं।

  • Liked by
  • admin
Close