छत्तीसगढ़ के करतला व कोरबा ब्लॉक के किसान सामूहिक रूप से खेती करके आत्मनिर्भर बनते जा रहे हैं. पहले ये सभी किसान केवल धान की खेती पर ही निर्भर रहते थे लेकिन चार साल पहले किसानों ने मिलकर इंटर क्रॉप करना शुरू किया था. अब उनकी आमदनी चार गुना तक बढ़ गई है. अब यहां के किसान धान के अलावा मूंगफली, आलू, प्याज के साथ-साथ सब्जियों की फसल लेते हैं. इस बदलाव का व्यापक असर अब आसपास के किसानों पर भी पड़ने लगा है. हालांकि, किसानों को इससे बड़ी मात्रा में मुनाफा हो रहा है.

Read more click